इन 15 लोगों को केला क्यों नहीं खाना चाहिए

 एलर्जी: कुछ लोगों को केले से एलर्जी हो सकती है, जिससे पित्ती, खुजली, या सांस लेने में तकलीफ जैसी एलर्जी प्रतिक्रियाएं हो सकती हैं

माइग्रेन: कुछ लोगों में केले का सेवन माइग्रेन सिरदर्द को ट्रिगर कर सकता है

दस्त: केले में फाइबर की मात्रा ज़्यादा होती है, जो दस्त की समस्या को बढ़ा सकती है

कब्ज: पके हुए केले में टैनिन नामक पदार्थ होता है, जो कब्ज की समस्या को बढ़ा सकता है

गुर्दे की बीमारी: केले में पोटेशियम की मात्रा ज़्यादा होती है, जो गुर्दे की बीमारी वाले लोगों के लिए हानिकारक हो सकती है

हृदय रोग: केले में वसा की मात्रा ज़्यादा होती है, जो हृदय रोग वाले लोगों के लिए हानिकारक हो सकती है

मोटापा: केले में कैलोरी की मात्रा ज़्यादा होती है, जो मोटापे की समस्या को बढ़ा सकती है

गर्भावस्था: गर्भवती महिलाओं को ज़्यादा पके हुए केले खाने से बचना चाहिए, क्योंकि इनमें फाइबर की मात्रा ज़्यादा होती है, जो अपच और कब्ज की समस्या को बढ़ा सकती है

स्तनपान: स्तनपान कराने वाली महिलाओं को ज़्यादा पके हुए केले खाने से बचना चाहिए, क्योंकि इनमें फाइबर की मात्रा ज़्यादा होती है, जो शिशु में पेट दर्द और दस्त की समस्या को बढ़ा सकती है

बच्चों में एलर्जी: बच्चों को केले से एलर्जी हो सकती है, इसलिए उन्हें केला खिलाने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए

सर्दी-जुकाम: आयुर्वेद के अनुसार, सर्दी-जुकाम की समस्या में केला खाने से बचना चाहिए

खाने के बाद: केले को खाली पेट खाने के बाद ही पानी पीना चाहिए, क्योंकि इससे पाचन क्रिया बेहतर होती है

 दूध के साथ: केले को दूध के साथ नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इससे पाचन क्रिया में बाधा आ सकती है

दवाओं के साथ: केले को कुछ दवाओं के साथ नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इससे दवाओं का प्रभाव कम हो सकता है