इसलिए कछुए 100 साल से ज्यादा जिंदा रहते है 

धीमी वृद्धि: कछुए बहुत धीरे-धीरे बढ़ते हैं। इसका मतलब है कि उनके शरीर में कोशिकाओं का क्षरण धीमा होता है और वे धीरे-धीरे बूढ़े होते हैं।

मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली: कछुओं की प्रतिरक्षा प्रणाली बहुत मजबूत होती है। यह उन्हें बीमारियों और संक्रमण से बचाने में मदद करती है।

अनुकूलन क्षमता: कछुए विभिन्न प्रकार के वातावरण में रह सकते हैं। वे अपने शरीर का तापमान नियंत्रित कर सकते हैं और भोजन की कमी का सामना कर सकते हैं।

जीन: कछुओं के जीन उन्हें लंबे समय तक जीवित रहने में मदद करते हैं। कुछ जीन उनके शरीर को मरम्मत करने में मदद करते हैं, जबकि अन्य उन्हें कैंसर जैसी बीमारियों से बचाते हैं।

अल्दाबरा विशालकाय कछुआ: यह कछुआ 250 साल तक जीवित रह सकता है।

गैलापागोस विशालकाय कछुआ: यह कछुआ 175 साल तक जीवित रह सकता है।

लेदरबैक समुद्री कछुआ: यह कछुआ 100 साल तक जीवित रह सकता है।