आइये जानते है की 1 सेकंड में राकेट कितनी दुरी तय करती है 

1. रॉकेट का प्रकार:

छोटे रॉकेट: कुछ छोटे रॉकेट 1 सेकंड में 10 मीटर से भी कम दूरी तय करते हैं।

अंतरिक्ष यान: अंतरिक्ष यान 1 सेकंड में 100 मीटर से अधिक दूरी तय कर सकते हैं।

भारी रॉकेट: भारी रॉकेट 1 सेकंड में 300 मीटर से अधिक दूरी तय कर सकते हैं।

2. रॉकेट का भार:

हल्के रॉकेट: हल्के रॉकेट भारी रॉकेट की तुलना में अधिक तेजी से गति करते हैं।

भारी रॉकेट: भारी रॉकेट को गति प्रदान करने के लिए अधिक शक्तिशाली इंजन की आवश्यकता होती है।

3. रॉकेट का इंजन:

शक्तिशाली इंजन: शक्तिशाली इंजन वाले रॉकेट कम शक्तिशाली इंजन वाले रॉकेट की तुलना में अधिक तेजी से गति करते हैं।

कम शक्तिशाली इंजन: कम शक्तिशाली इंजन वाले रॉकेट को गति प्रदान करने के लिए अधिक समय लगता है।

4. रॉकेट का प्रक्षेपण कोण:

ऊर्ध्वाधर प्रक्षेपण: ऊर्ध्वाधर प्रक्षेपण में, रॉकेट 1 सेकंड में अधिक दूरी तय करता है क्योंकि गुरुत्वाकर्षण बल उसे नीचे की ओर नहीं खींचता है।

तिरछा प्रक्षेपण: तिरछे प्रक्षेपण में, गुरुत्वाकर्षण बल रॉकेट को नीचे की ओर खींचता है, जिससे 1 सेकंड में तय की जाने वाली दूरी कम हो जाती है।

उदाहरण के लिए:

SpaceX का Falcon 9 रॉकेट: यह रॉकेट 1 सेकंड में 7.9किलोमीटर की दूरी तय करता है।

NASA का Space Shuttle: यह अंतरिक्ष यान 1 सेकंड में 11.2किलोमीटर की दूरी तय करता है।