आँखों की रोशनी कम हो रही है तो ये 12यौगिक क्रियाएँ होगी फायदेमंद 

1. सूर्यनमस्कार: सूर्यनमस्कार योगासन का एक समूह है जो शरीर के सभी अंगों को सक्रिय करता है, जिसमें आंखें भी शामिल हैं। सूर्यनमस्कार करने से आंखों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और रक्त प्रवाह बेहतर होता है।

2. अनुलोम विलोम: यह प्राणायाम श्वास को नियंत्रित करने में मदद करता है और शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह बढ़ाता है। अनुलोम विलोम करने से आंखों की थकान कम होती है और दृष्टि में सुधार होता है।

3. पलिंग: पलिंग में, आप अपनी आंखों को बंद करके कुछ मिनटों के लिए शांत बैठते हैं। यह आंखों को आराम देता है और तनाव कम करता है।

4. त्राटक: त्राटक में, आप एक निश्चित बिंदु पर ध्यान केंद्रित करते हैं। यह आंखों की एकाग्रता और समन्वय में सुधार करता है।

5. भ्रामरी: भ्रामरी में, आप अपनी आंखों को बंद करके शहद मधुमक्खी जैसी आवाज करते हैं। यह आंखों की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है और आंखों में जलन कम करता है।

6. शवासन: शवासन में, आप अपनी पीठ पर लेटकर पूरी तरह से आराम करते हैं। यह आंखों को आराम देता है और तनाव कम करता है।

7. नेत्र बस्ती: नेत्र बस्ती में, आप अपनी आंखों पर गीली पट्टी रखते हैं। यह आंखों की सूजन और जलन कम करता है।

1. सूर्यनमस्कार: सूर्यनमस्कार योगासन का एक समूह है जो शरीर के सभी अंगों को सक्रिय करता है, जिसमें आंखें भी शामिल हैं। सूर्यनमस्कार करने से आंखों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और रक्त प्रवाह बेहतर होता है।

9. आंखों का व्यायाम: कुछ सरल आंखों के व्यायाम हैं जो आप कर सकते हैं, जैसे कि ऊपर-नीचे, दाएं-बाएं, और गोलाकार गति में अपनी आंखों को घुमाना।

1. सूर्यनमस्कार: सूर्यनमस्कार योगासन का एक समूह है जो शरीर के सभी अंगों को सक्रिय करता है, जिसमें आंखें भी शामिल हैं। सूर्यनमस्कार करने से आंखों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है और रक्त प्रवाह बेहतर होता है।

11. पर्याप्त नींद: आंखों को स्वस्थ रखने के लिए पर्याप्त नींद लेना महत्वपूर्ण है।

12. स्क्रीन का कम उपयोग: स्क्रीन का अधिक उपयोग आंखों की थकान और दृष्टि समस्याओं का कारण बन सकता है। स्क्रीन का उपयोग कम करें और नियमित रूप से ब्रेक लें।