Sarkari yojna

Udyog Aadhar Registration kya hai |उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन क्या है

Udyog Aadhar Registration सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार ने उद्योग आधार के लिए ऑनलाइन पंजीकरण के लिए एक

Udyog Aadhar Registration kya hai |उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन क्या है

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Udyog Aadhar Registration सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय भारत सरकार ने उद्योग आधार के लिए ऑनलाइन पंजीकरण के लिए एक नई वेबसाइट पहले से ही शुरू कर दी है। उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन सूक्ष्म लघु और मध्यम व्यापार के लिए एक प्रक्रिया है यह वेबसाइट हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 15 सितंबर 2015 को शुरू की गई थी अब सुख में लघु और मध्य व्यापार शुरू करने के लिए आप उद्यम आधार वेबसाइट के तहत ऑनलाइन मोड़ के माध्यम से पंजीकरण कर सकते हैं यहां इस लेख में आप उद्योग आधार पंजीकरण और इसके लाभ से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं कृपया आगे बताएंगे सत्र पर एक नजर डालें और भविष्य में अधिक संबंधित अपडेट के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

Udyog Aadhar Registration
Udyog Aadhar Registration

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन क्या है?

 

Udyog Aadhar Registration एक ऑनलाइन प्रक्रिया है जिसके माध्यम से भारत में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इस रजिस्ट्रेशन के बाद, उद्यम को एक 12-अंकीय यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर (UIN) दिया जाता है, जिसे उद्योग आधार या MSME रजिस्ट्रेशन नंबर भी कहा जाता है। उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन वाले उद्यमों को सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न सब्सिडी और योजनाओं के लिए पात्रता प्राप्त होती है। इनमें बैंक ऋण, कर छूट, पेटेंट रजिस्ट्रेशन सब्सिडी, ISO प्रमाणन भुगतान, बिजली बिल में रियायत, आदि शामिल हैं। उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन वाले उद्यमों को व्यापार में सुगमता मिलती है। उन्हें लाइसेंस, अनुमोदन और अन्य रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन करना आसान होता है उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन वाले उद्यमों को वित्तीय संस्थानों से ऋण प्राप्त करना आसान होता है। उन्हें गारंटी या गिरवी के बिना ऋण प्राप्त हो सकता है।

 

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना का उद्देश्य

 

Udyog Aadhar Registration  योजना के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:

MSMEs को कानूनी रूप से पंजीकृत करना: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना MSMEs को कानूनी रूप से पंजीकृत करने में मदद करती है। इससे उन्हें सरकारी योजनाओं और वित्तीय सहायता का लाभ लेने में आसानी होती है।

MSMEs को वित्तीय सहायता प्राप्त करने में मदद करना: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना MSMEs को वित्तीय सहायता प्राप्त करने में मदद करती है। कई सरकारी और निजी बैंक और वित्तीय संस्थान MSMEs को ऋण और अन्य वित्तीय सहायता प्रदान करती हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें कानूनी रूप से पंजीकृत होना चाहिए।

MSMEs को सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने में मदद करना: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना MSMEs को सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने में मदद करती है। कई सरकारी योजनाएं MSMEs के लिए विशेष लाभ प्रदान करती हैं, लेकिन इसके लिए उन्हें कानूनी रूप से पंजीकृत होना चाहिए।

MSMEs को बढ़ावा देना: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना MSMEs को बढ़ावा देने में मदद करती है। इससे उन्हें अधिक ग्राहकों तक पहुंचने और अपने व्यवसाय को बढ़ाने में आसानी होती है।

 

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना का लाभ

 

सरकारी योजनाओं और सब्सिडी का लाभ: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन कराने वाले उद्यमी को भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं और सब्सिडी का लाभ मिल सकता है।

व्यापार और वित्तीय सुविधाओं में आसानी: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी को व्यापार और वित्तीय सुविधाओं में आसानी मिलती है। उदाहरण के लिए, उद्यमी को बैंक लोन, बीमा और अन्य सुविधाओं के लिए आवेदन करना आसान हो जाता है।

व्यापार में विश्वसनीयता: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी की व्यापार में विश्वसनीयता बढ़ती है। इससे ग्राहकों और व्यापार भागीदारों का विश्वास बढ़ता है।

आंतरराष्ट्रीय व्यापार में आसानी: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी को आंतरराष्ट्रीय व्यापार में आसानी होती है। उदाहरण के लिए, उद्यमी को आयात और निर्यात लाइसेंस प्राप्त करना आसान हो जाता है।

सूचना और सहायता: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी को सरकार से विभिन्न प्रकार की जानकारी और सहायता प्राप्त होती है। उदाहरण के लिए, उद्यमी को बाजार अनुसंधान, वित्तीय सलाह और अन्य सहायता प्राप्त होती है।

प्रशिक्षण और विकास: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी को प्रशिक्षण और विकास के अवसर मिलते हैं। उदाहरण के लिए, उद्यमी को व्यवसाय प्रबंधन, विपणन और अन्य क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्राप्त होता है।

नए अवसर: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी को नए अवसर मिलते हैं। उदाहरण के लिए, उद्यमी को सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के तहत नए व्यवसाय शुरू करने या मौजूदा व्यवसाय का विस्तार करने का अवसर मिल सकता है।

प्रतिस्पर्धात्मकता में वृद्धि: उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन से उद्यमी की प्रतिस्पर्धात्मकता में वृद्धि होती है। इससे उद्यमी को बाजार में अपनी स्थिति मजबूत करने में मदद मिलती है।

 

Pradhanmantri Kisan Drone Yojana 2023

 

 

उद्योग आधार रजिस्ट्रेशन योजना के लिए अप्लाई कैसे करे।

 

Udyog Aadhar Registration सबसे पहले आपको उद्योग आधार योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

यहाँ पर आपको “उद्योग आधार पंजीकरण” लिंक पर क्लिक करना है।

इसके बाद आपको “New Registration” लिंक पर क्लिक करना है।

क्लिक करने के बाद आपको अपना आधार नंबर और कैप्चा दर्ज करना है।

फिर आपको यहाँ पर अपना व्यवसाय का विवरण भरना है।

अपने व्यवसाय की संपत्ति का विवरण भर ले ने के बाद आपको

अपने व्यवसाय के मालिक का विवरण भरना है।

फिर अपने व्यवसाय के प्रबंधक का विवरण भरें।

अपने व्यवसाय के बैंक खाते का विवरण भरें।

अपने व्यवसाय के संपर्क विवरण दर्ज करे है।

इसके बाद आपको “सबमिट ” बटन पर क्लिक क्लिक  करना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button