Sarkari yojna

Shram Board Mrityu Shahayata Yojana | श्रम बोर्ड मृत्यु सहायता योजना 

इस योजना को हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया है इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी श्रमिक कार्ड धारक हैं उन्हें लाभ दिया जाएगा। श्रमिक की मृत्यु के पश्चात श्रमिक के परिवार वालों को ₹200000 की राशि प्राप्त होगी

Shram Board Mrityu Shahayata Yojana | श्रम बोर्ड मृत्यु सहायता योजना

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

श्रम बोर्ड मृत्यु सहायता योजना (Shram Board Mrityu Shahayata Yojana)  एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य श्रमिक वर्ग के लोगों के परिवारों को अधिकांश मामूली खर्चों को भरने में सहायता प्रदान करना है, जिनके पास शारीरिक कमजोरी या दुर्घटना के कारण श्रमिक की मृत्यु हो गई है। इस योजना के अंतर्गत श्रमिक परिवार को आर्थिक सहायता देने के लिए निम्नलिखित कदम उठाए जाते हैं:

मृतक श्रमिक के परिवार को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराना।

मृतक श्रमिक के बच्चों के शिक्षा और पोषण की व्यवस्था करना।

High Education के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करना, यदि योग्यता हो।

मृतक श्रमिक के परिवार को वित्तीय सहायता उपलब्ध कराना।

परिवार के लोगों के लिए आवास योजना में लाभ प्रदान करना।

यह योजना भारत सरकार द्वारा चलाई जाती है और राज्य सरकारों के अंतर्गत भी इसे लागू किया जा सकता है। श्रम बोर्ड मृत्यु सहायता योजना के तहत आर्थिक सहायता राशि और योजना के विवरण राज्य सरकारों द्वारा निर्धारित की जाती हैं।

Benefit of Haryana shramik mrutyu sahayata Yojana

 

Shram Board Mrityu Shahayata Yojana यह Yojana Hariyana सरकार द्वारा शुरू की गई है।

हरियाणा श्रमिक मृत्यु सहायता योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य श्रमिक के परिवार को आर्थिक सहायता देना है।

Sarkar द्वारा Shrmik के परिवार वालों को पेंशन के रूप में श्रमिक के मृत्यु के बाद कुछ राशि दी जाएगी।

हरियाणा लेबर असाइनमेंट स्कीम के अंतर्गत लाभार्थी को जो राशि दी जाएगी उसका मूल्य ₹200000 होगा।

यह राशि Shrmik के द्वारा निर्धारित उत्तराधिकारी को दिया जाएगा।

श्रमिक हर साल अंशदान जमा करवाता आ रहा है तो उसके परिवार को ₹200000 मिल जाएंगे।

श्रमिक मृत्यु सहायता योजना हरियाणा श्रमिकों के परिवार वालों को जो राशि प्राप्त होगी उसकी सहायता से वह अपनी जरूरतों को पूरा कर सकेंगे।

यदि श्रमिक निर्धारित शुल्क जमा नहीं करवाया है तो परिवार योजना के लाभ हेतु आवेदन फॉर्म नहीं भर पाएंगे।

श्रमिक के परिवार वालों को इस योजना का लाभ तभी मिलेगा जब श्रमिक का आवेदन lebar Card की सूची में होगा।

 

श्रम बोर्ड मृत्यु शायता योजना का लाभ:

श्रमिकों के परिवार को सहायता: यह योजना श्रमिकों के मृतक सदस्यों के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

मृतक श्रमिक का बीमा राशि: योजना के तहत, मृतक श्रमिक के नाम पर बीमा राशि प्रदान की जाती है।

अस्पताल और चिकित्सा खर्च का भुगतान: योजना अनियमित रूप से चिकित्सा खर्च का भुगतान करती है।

अंतिम संस्कार के लिए आर्थिक सहायता: मृतक श्रमिक के अंतिम संस्कार के खर्च को समर्थन किया जाता है।

शिक्षा और विवाह समारंभ का आर्थिक सहायता: योजना श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा और विवाह के खर्चों का समर्थन करती है।

संशोधित योजना: योजना के तहत नियमित अंतराल पर संशोधन किया जाता है, ताकि योजना सबसे उपयुक्त रहे।

वृद्धा श्रमिकों के लिए लाभ: योजना वृद्धा श्रमिकों को भी लाभ प्रदान करती है जिन्होंने अपना जीवन श्रम से बिताया है।

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया: श्रमिक और उनके परिवार के लिए लाभ पाने के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया है, जो आसान और समय-संचय है।

श्रम संबंधित समस्याओं का समाधान: योजना श्रमिकों के शोक-संबंधित समस्याओं के समाधान में मदद करती है और उन्हें धैर्य से समर्थन प्रदान करती है।

समाज में सम्मान: योजना श्रमिकों के समाज में सम्मान बढ़ाती है और उन्हें विभाग के ध्येयों के प्रति विश्वास प्रदान करती है।

 

श्रम बोर्ड मृत्यु शायता योजना का उद्देश्य (Purpose of Shram Board Mrityu Shayta Yojana)

 

श्रमिकों की सुरक्षा: इस योजना का प्रमुख उद्देश्य श्रमिक वर्ग को दुर्घटना और चिकित्सा के समय मृत्यु से बचाने के लिए सुरक्षा उपायों को प्रदान करना है।

आर्थिक सहायता: श्रमिकों के परिवार को शोकाकुल समय में आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने से यह योजना उनकी मदद करती है।

रोजगार की गरिमा सुरक्षित करना: श्रमिकों को रोजगार में काम करते समय होने वाली आकस्मिक घातक घटनाओं से बचाने के लिए यह योजना महत्वपूर्ण रूप से योगदान करती है।

सामाजिक सुरक्षा: इस योजना के तहत मृत्यु के समय श्रमिकों के परिवार को सामाजिक सुरक्षा उपाय प्रदान किये जाने से उन्हें समर्थन मिलता है।

नागरिक सहायता: यह योजना नागरिक समाज के विकास में सहायक है, जिससे लोगों के बीच एक-दूसरे के प्रति विश्वास और समर्थन का भाव बना रहता है।

परिवारिक भावना का संवर्धन: श्रमिकों के परिवार को इस योजना के माध्यम से आर्थिक और सामाजिक सहायता मिलती है, जो परिवारिक भावना को संवर्धित करता है।

श्रमिकों के उत्थान का समर्थन: श्रम बोर्ड मृत्यु शायता योजना श्रमिकों के उत्थान को समर्थन करके उन्हें सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्त बनाती है।

अन्य सरकारी योजनाओं का पूरक: इस योजना के माध्यम से, श्रमिकों को अन्य सरकारी योजनाओं के साथ एक संपूर्ण रक्षा प्रदान की जाती है।

दुर्घटना प्रबंधन: यह योजना दुर्घटनाओं के प्रबंधन और दुर्घटना प्रतिबंधन के क्षेत्र में श्रमिकों को शिक्षित बनाती है।

समाज के विकास में योगदान: श्रमिकों के परिवारों को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करके, इस योजना का एक मुख्य उद्देश्य समाज के संपूर्ण विकास में योगदान देना है।

Yojana Labh लेने के लिए श्रमिक कार्ड का होना अनिवार्य है

 

इस योजना को हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया है इस योजना के अंतर्गत राज्य के सभी श्रमिक कार्ड धारक हैं उन्हें लाभ दिया जाएगा। श्रमिक की मृत्यु के पश्चात श्रमिक के परिवार वालों को ₹200000 की राशि प्राप्त होगी।

इस योजना का लाभ केवल  श्रमिकों को मिल पाएगा जिनका पंजीकरण श्रमिक कार्ड की सूची में होगा एवं जो श्रमिक कार्ड धारक होंगे। यदि किसी श्रमिक में अभी-अभी श्रमिक कार्ड बनवाया है और उनकी मृत्यु हो जाती है तो अभी उसको इस योजना का लाभ मिल जाएगा।

इस योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक कार्ड का पूरा होना अनिवार्य नहीं है। जिनके पास श्रमिक कार्ड नहीं होगा उन्हें इस योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा।

हरियाणा श्रमिक मृत्यु सहायता योजना की विशेषताएं

Shram Board Mrityu Shahayata Yojana इस योजना के अंतर्गत श्रमिक के परिवार वालों को श्रमिक की मृत्यु के बाद पेंशन राशि दी जाएगी।

Shrmik की dath किसी प्राकृतिक कारण से हुई है या किसी दुर्घटना की वजह से हुई है तभी उसे इस योजना का लाभ मिलेगा।

हरियाणा श्रमिक मृत्यु सहायता योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक की मृत्यु 1 साल के अंदर उसके परिवार वालों को आवेदन करना होगा।

Shrmik की मृत्यु का कारण आत्महत्या होता है तो इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे।

Sarkar द्वारा इस योजना के अंतर्गत श्रमिक के परिवार वालों को ₹2 Lakh की राशि दी जाएगी।

यदि किसी श्रमिक में अभी-अभी श्रमिक कार्ड बनवाया है तो वह योजना का लाभ ले सकते हैं।

हरियाणा श्रमिक मृत्यु सहायता योजना की पात्रता

इस योजना का लाभ केवल सैनिक की मृत्यु होने के बाद ही मिलेगा।

लाभार्थी को हरियाणा का Mul Nivashi होना अनिवार्य है।

इस योजना के अंतर्गत केवल shrmik ही अपना आवेदन करवा सकते हैं।

लाभार्थी गरीब रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाला हो।

सर्विस मृत्यु सहायता योजना की महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट।

आधार कार्ड

वोटर कार्ड

मृत्यु प्रमाण पत्र

जमा करवाया उसकी रसीद नॉमिनी का फोटो

हरियाणा श्रमिक मृत्यु सहायता योजना 2023 के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

इस योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको लेबर डिपार्टमेंट हरियाणा की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा।hrylabour.gov.in

Iske bad aapke samne home page khulkar aaega

आपको यहां इस सर्विस के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

इसके बाद आपको एचआर वाइन लेबर वेलफेयर बोर्ड के ऑप्शन पर क्लिक करना है।

Shram Board Mrityu Shahayata Yojana
Shram Board Mrityu Shahayata Yojana

 

आपके सामने होम पेज खोलकर आएंगे

आपको इस पेज पर पूछे गए सभी जानकारी भरनी होगी।

अब आप को समर्थन पर क्लिक करना है।

इसके बाद एक न्यू पेज ओपन होगा।

आधार नंबर डालना होगा और पूछी गई सभी जानकारी भरनी होगी।

इसके बाद आपको Click Login Option करना होगा

आपके सामने एक न्यू पेज ओपन होगा।

इसके बाद आपको लेबर के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा।

इस पेज पर आपको लेबर कार्ड की स्कीम के विकल्प पर क्लिक करना होगा।

आपके सामने खोल कर आएगा इस फोन में पूछे गए सभी जानकारी आपको सही-सही भरनी है।

आपको इस फॉर्म के साथ सभी मुख्य Docoment Upload करने होंगे।

इसके बाद आपको Click Submit Button करना होगा।

इस तरह से आप बड़े ही आसानी से इस योजना में आवेदन कर सकते हैं।

Shrmik Dath सहायता योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button