Tech news

Python Kya hai | पाइथन क्या है

Python Kya hai : क्या आप जानना चाहते हैं कि पाइथन क्या है और पाइथन के बारे में बुनियादी जानकारी जानना है तो यह ट्यूटोरियल आपके लिए है

Python Kya hai | पाइथन क्या है

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Python Kya hai : क्या आप जानना चाहते हैं कि पाइथन क्या है और पाइथन के बारे में बुनियादी जानकारी जानना है तो यह ट्यूटोरियल आपके लिए है अगर आप तकनीकी क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं और वेब डेवलपमेंट मशीन लर्निंग और डाटा साइंस जैसे नौकरियां करना चाहते हैं तो आपको पाइथन के बारे में सब कुछ पता होना अनिवार्य है जो आपके इस ट्यूटोरियल पाइथन का परिचय में जानने ने को मिलेगा। पाइथन एक ऐसा लोकप्रिय और अपना कंप्यूटर प्रोग्रामिंग भाषा है पाइथन का उपयोग बैक एंड डेवलपमेंट सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट सिस्टम स्क्रिप्ट लिखने और बिग डाटा प्रोसेसिंग आदि के लिए किया जा सकता है इसके अलावा पैटर्न बड़ी संख्या में कार्यों को कुशलता से संभाल जा सकता है।

जब आपको भी प्रोग्रामिंग भाषा सीखना चाहते हैं तो आपका पहला काम बुनियादी चीजों को समझना होना चाहिए या आपके कारण देता है कि आपको उस विशेष भाषा की आवश्यकता क्यों है इसका मतलब है कि यह आपको आपके करियर के बारे में स्पष्ट देता है जो सबसे महत्वपूर्ण है इसलिए 2023 में पाइथन को सीखना शुरू करने के लिए पहले को इसके बारे में कुछ बेसिक जानकारी होना जरूरी है जैसे कि पाइथन क्या है और कैसे काम करता है पाइथन का उपयोग पाइथन क्यों सीखे और जल्दी पाइथन कैसे सीख सकते हैं आदि । जो आपके यहां इस लेख में मिल जाएगा।

Python Kya hai
Python Kya hai

पाइथन क्या है

Python Kya hai : पाइथन एक हाई लेवल कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका इस्तेमाल आई मशीन लर्निंग डाटा एनालिस्ट एप्लीकेशन प्रोग्राम आदि में क्या जाता है यह एक ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड लैंग्वेज है। पाइथन एक फ्री और ओपन सोर्स लैंग्वेज है इसके कोड का इस्तेमाल किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम में किया जा सकता है पाइथन के कोड को लिखना पढ़ना और समझना आसान होता है इसलिए थोड़ी सी मेहनत के बाद पाइथन भाषा को आसानी से सीखा जा सकता है। अपने गजब के फीचर्स के कारण आज के समय में पाइथन दुनिया की एक पॉप्युलर लैंग्वेज है इसका इस्तेमाल बहुत सारे काम में होता है इन सबों के बारे में हम आगे इस लेख में जानेंगे।

पाइथन का इतिहास

 

Python Kya hai : पाइथन की शुरुआत 1980 के दशक के अंत में नीदरलैंड में स्थित केन्द्र वाइजमैथेतिके एन इनफोर्मेटिक (सीडब्ल्यूआई) में हुई। सीडब्ल्यूआई में काम करने वाले गुइडो वान रोसम ने एक ऐसी प्रोग्रामिंग भाषा बनाने का विचार किया जो कि सी, सी++ और बेसिक जैसी भाषाओं की तुलना में अधिक आसान और सुव्यवस्थित हो। वान रोसम ने भाषा को ABC नाम दिया, जो कि एक अन्य प्रोग्रामिंग भाषा से प्रेरित थी।

1989 में, वान रोसम ने ABC की जगह एक नई भाषा बनाने का फैसला किया। उन्होंने इस नई भाषा को Python नाम दिया, जो कि एक 19वीं शताब्दी के अंग्रेजी हास्यकार और लेखक ल्यूडविग बोर्नट के उपनाम से लिया गया था। Python का पहला संस्करण 20 दिसंबर, 1991 को जारी किया गया था।

पाइथन को जल्द ही लोकप्रियता हासिल होने लगी। इसका कारण यह था कि भाषा सीखने और उपयोग करने में आसान थी। इसके अलावा, पाइथन में कई ऐसे विशेषताएं थीं जो इसे अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओं से बेहतर बनाती थीं। उदाहरण के लिए, पाइथन में अपवाद प्रबंधन, ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग और इंटरफेसिंग की सुविधाएं शामिल थीं।

1995 में, वान रोसम ने Python Software Foundation (PSF) की स्थापना की। PSF पाइथन की विकास और प्रचार के लिए जिम्मेदार है।

2000 के दशक के बाद से, पाइथन की लोकप्रियता में लगातार वृद्धि हुई है। आज, पाइथन दुनिया में सबसे लोकप्रिय प्रोग्रामिंग भाषाओं में से एक है। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के अनुप्रयोगों में किया जाता है, जिनमें वेब विकास, डेटा विज्ञान, मशीन लर्निंग और कृत्रिम बुद्धिमत्ता शामिल हैं।

Java Kya hai Aur kaise Sikhe

पाइथन के संस्करण

 

Python Kya hai : पाइथन के कुछ प्रमुख संस्करणों के बारे में अधिक जानकारी नीचे दी गई है:

पाइथन 1.0 (1994): यह पाइथन का पहला आधिकारिक संस्करण था। इसमें कई महत्वपूर्ण नए फ़ंक्शन और विशेषताएं शामिल थीं, जिनमें से कुछ में ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग समर्थन, स्ट्रिंग मैथड्स और फ़ाइल आई/ओ शामिल थे।
पाइथन 2.0 (2000): यह पाइथन का एक प्रमुख संस्करण रिलीज़ था। इसमें कई महत्वपूर्ण नए फ़ंक्शन और विशेषताएं शामिल थीं, जिनमें से कुछ में कस्टम ऑपरेटर, कस्टम क्लास मेथड्स और स्ट्रिंग फॉर्मेटिंग शामिल थे।
पाइथन 3.0 (2008): यह पाइथन का एक और प्रमुख संस्करण रिलीज़ था। इसमें कई महत्वपूर्ण नए फ़ंक्शन और विशेषताएं शामिल थीं, जिनमें से कुछ में स्ट्रिंग कोडिंग, गिवर और टेकर्स और जटिल संख्याएं शामिल थीं।
पाइथन 3.10 (2021): यह पाइथन का एक प्रमुख संस्करण रिलीज़ था। इसमें कई महत्वपूर्ण नए फ़ंक्शन और विशेषताएं शामिल थीं, जिनमें से कुछ में अनबॉक्सिंग, स्ट्रिंग फ़िल्टरिंग और फ़ाइल स्ट्रीमिंग शामिल थीं।

पाइथन सीखने के लाभ

 

Python Kya hai : पाइथन एक लोकप्रिय और बहुमुखी प्रोग्रामिंग भाषा है जिसका उपयोग विभिन्न प्रकार के अनुप्रयोगों के लिए किया जाता है। पाइथन सीखने के कई लाभ हैं, जिनमें शामिल हैं:

पाइथन एक अपेक्षाकृत सरल भाषा है जिसे सीखना आसान है। यह एक साफ और सुसंगत सिंटैक्स का उपयोग करता है जो इसे अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओं की तुलना में सीखने में आसान बनाता है।
पाइथन एक शक्तिशाली भाषा है जिसका उपयोग विभिन्न प्रकार के कार्यों के लिए किया जा सकता है। इसका उपयोग वेबसाइटों, ऐप्स, डेटा विश्लेषण, मशीन लर्निंग और कृत्रिम बुद्धिमत्ता के लिए किया जा सकता है।
पाइथन एक लोकप्रिय भाषा है जिसका उपयोग कई उद्योगों में किया जाता है। इसका उपयोग व्यवसाय, शिक्षा, विज्ञान, इंजीनियरिंग और अन्य क्षेत्रों में किया जाता है।
पाइथन सीखने से आपको समस्या-समाधान और तर्क कौशल विकसित करने में मदद मिल सकती है। पाइथन प्रोग्रामिंग समस्याओं को हल करने की एक रचनात्मक और चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया है जो आपके तर्क कौशल को विकसित करने में मदद कर सकती है।
पाइथन सीखने से आपको अपने कंप्यूटर को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिल सकती है। पाइथन प्रोग्रामिंग आपको कंप्यूटर के बुनियादी सिद्धांतों को समझने में मदद कर सकती है, जिससे आप अपने कंप्यूटर का अधिक प्रभावी ढंग से उपयोग कर सकते हैं।
पाइथन सीखने से आपको नौकरी के अवसरों को खोलने में मदद मिल सकती है। पाइथन एक मांग वाली भाषा है जिसकी मांग लगातार बढ़ रही है। पाइथन सीखने से आपको नौकरी के अवसरों की एक विस्तृत श्रृंखला खोलने में मदद मिल सकती है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button