Sarkari yojna

Pradhanmantri Kusum yojana 2023 kya hai | प्रधानमंत्री कुसुम योजना क्या है

Pradhanmantri Kusum yojana 2023 आपकी जानकारी के लिए आपको बता देगी केंद्र सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री कुसुम योजना के अंतर्गत

Pradhanmantri Kusum yojana 2023 kya hai | प्रधानमंत्री कुसुम योजना क्या है

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Pradhanmantri Kusum yojana 2023 आपकी जानकारी के लिए आपको बता देगी केंद्र सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री कुसुम योजना के अंतर्गत किसानों को सोलर पंप लगवाने पर 90% तक की सब्सिडी का अवसर दिया जाता है प्रधानमंत्री कुसुम योजना में आवेदन करके आप सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर सकते हैं साथ ही आपको बता दे की बंजर भूमि को भी उपयोग में लाया जा सकेगा इस योजना का लाभ देश के सभी किसान उठा सकते हैं और अपने जमीन में सोलर पंप लगवा कर आसानी से सिंचाई कर सकते हैं तो लिए आज जानते हैं प्रधानमंत्री कुसुम योजना क्या है योजना से जुड़ी सभी जानकारी को प्राप्त करने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें।

 

Pradhanmantri Kusum yojana 2023
Pradhanmantri Kusum yojana 2023

 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2023 क्या है

 

 

Pradhanmantri Kusum yojana 2023  बता दे कि केंद्र सरकार द्वारा सभी किसानों के लिए कुसुम योजना को शुरू किया गया है प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत सिंचाई करने के लिए काम किए जाने वाले पंप जो कि डीजल या पेट्रोल से चलते थे उन्हें केंद्र सरकार सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप में बदलेगी प्रधानमंत्री कुसुम योजना के दो फायदे हैं पहले कि किसानों को सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप महिया कराया जाएगा इससे उन्हें डीजल या पेट्रोल से चलने वाले पंप की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और दूसरा यह कि किसानों को इन पंप सेट के साथ ऊर्जा पावर ग्रिड दिया जाएगा और जो भी अतिरिक्त बिजली किसानों के पास जमा होगी उसे वह सरकार को सीधे भेज देंगे और इसके द्वारा किसने की आय में वृद्धि होगी।

 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसका उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाने और कृषि क्षेत्र को सिंचाई और डी-डीजल के स्रोत प्रदान करना है। यह योजना तीन घटकों में विभाजित है:

 

कृषि सौर ऊर्जा मॉडल (KUSUM-A): इस घटक के तहत, 500 किलोवाट से 2 मेगावाट तक की क्षमता के विकेंद्रीकृत सौर ऊर्जा संयंत्रों (एसपीपी) को विकसित किया जाएगा। ये एसपीपी वितरण कंपनी के मौजूदा 33/11 केवी सब-स्टेशनों से सीधे जुड़े जाएंगे। इन एसपीपी को अधिमानतः किसानों द्वारा विकसित किया जाएगा, जिन्हें अपनी बंजर और अनुपयोगी भूमि का उपयोग करके ऐसा करने का अवसर मिलेगा।

 

किसान ऊर्जा सुरक्षा (KUSUM-B): इस घटक के तहत, किसानों को 5 किलोवाट से 10 हॉर्स पावर तक के सोलर पंपों को 60% सब्सिडी पर प्रदान किया जाएगा। ये सोलर पंप किसानों को डीजल पंपों की तुलना में कम लागत पर सिंचाई करने में सक्षम बनाएंगे।

 

कृषि ऊर्जा उद्यमिता (KUSUM-C): इस घटक के तहत, कृषि क्षेत्र में सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए कृषि उद्यमों को सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इन उद्यमों में कृषि उपकरणों का निर्माण, सौर ऊर्जा के उपयोग से संचालित कृषि प्रसंस्करण इकाइयाँ, और सौर ऊर्जा के उपयोग से संचालित कृषि आधारित व्यवसाय शामिल हैं।

 

 

 

 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का उद्देश्य

 

Pradhanmantri Kusum yojana 2023 का उद्देश्य किसानों को सौर ऊर्जा के उपयोग के लिए प्रोत्साहित करना और भारत में सौर ऊर्जा उत्पादन को बढ़ावा देना है। इस योजना के तीन घटक हैं:

 

घटक-ए: यह घटक ग्रामीण क्षेत्रों में 300 मेगावाट की क्षमता के विकेंद्रीकृत सौर ग्रिडों की स्थापना पर केंद्रित है। इन ग्रिडों से किसानों को सिंचाई, प्रकाश और अन्य उद्देश्यों के लिए बिजली उपलब्ध होगी।

घटक-बी: यह घटक 15 लाख किसानों को स्टैंडअलोन सौर पंप प्रदान करने पर केंद्रित है। ये पंप किसानों को डीजल पंपों पर निर्भरता से मुक्त करेंगे और उन्हें सिंचाई के लिए कम लागत पर ऊर्जा प्रदान करेंगे।

घटक-सी: यह घटक 10 लाख ग्रिड-कनेक्टेड कृषि पंपों को सौरीकरण पर केंद्रित है। यह किसानों को बिजली बिलों में बचत करने में मदद करेगा।

 

 

 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ

 

 

यह योजना भारत की ऊर्जा सुरक्षा को बढ़ावा देती है। सौर ऊर्जा एक नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत है, जो प्रदूषण मुक्त है और लंबे समय तक चलने वाला है।

यह योजना किसानों को आर्थिक लाभ प्रदान करती है। सौर ऊर्जा से बिजली बेचकर, किसान अतिरिक्त आय अर्जित कर सकते हैं।

यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में प्रकाश व्यवस्था में सुधार करती है। सौर ऊर्जा से चलने वाले स्ट्रीट लाइट और घरेलू प्रकाश व्यवस्था ग्रामीण क्षेत्रों में रात में प्रकाश प्रदान करती है।

यह योजना बेरोजगारी में कमी में मदद करती है। सौर ऊर्जा परियोजनाओं के निर्माण और रखरखाव में कई लोगों को रोजगार मिल सकता है।

यह योजना पर्यावरण संरक्षण में मदद करती है। सौर ऊर्जा से प्रदूषण नहीं होता है, जो पर्यावरण को स्वच्छ रखने में मदद करता है।

यह योजना भारत की वैश्विक छवि में सुधार करती है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में भारत की बढ़ती दक्षता को दुनिया भर में मान्यता दी जा रही है।

सौर ऊर्जा से चलने वाले उपकरणों का उपयोग करके, किसान और ग्रामीण लोग धुएं और प्रदूषण से मुक्त रह सकते हैं। इससे उनके स्वास्थ्य में सुधार होता है।

यह योजना भारत और अन्य देशों के बीच सहयोग को बढ़ावा देती है। भारत सौर ऊर्जा के क्षेत्र में अन्य देशों के साथ सहयोग कर रहा है।

यह योजना विकास की गति में तेजी लाने में मदद करती है। सौर ऊर्जा से बिजली की उपलब्धता से, उद्योग और अन्य क्षेत्रों में विकास तेजी से हो सकता है।

यह योजना समृद्धि में वृद्धि में मदद करती है। सौर ऊर्जा से जुड़े व्यवसायों और उद्योगों के विकास से, भारत की अर्थव्यवस्था में वृद्धि होती है।

 

प्रधानमंत्री शौचालय  निर्माण योजना क्या है

 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लिए आवेदन कैसे करे

 

 

Pradhanmantri Kusum yojana 2023  के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

 

सबसे पहले आपको  ऊर्जा मंत्रालय (MNRE) की आधिकारिक वेबसाइट www.mnre.gov.in पर जाएं।

इसके  बाद आपको होम पेज पर, “प्रधानमंत्री कुसुम योजना” लिंक पर क्लिक करें।

इसके बाद “ऑनलाइन आवेदन करें” लिंक पर क्लिक करें।

इसके बाद आपको एक आवेदन पत्र भरें प्राप्त होगी इस फॉर्म को सही सही भरे और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।

फिर आपको आवेदन शुल्क का भुगतान करें।

लास्ट में “सबमिट” बटन पर क्लिक करें।

इस प्रकार आपका आवेदन की प्रक्रिया कम्पलीट हो जाती है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button