Gov update

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana : मुख्यमंत्री निशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana: मध्य प्रदेश में निशक्तों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने निशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ किया है

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana : मुख्यमंत्री निशक्त

शिक्षा प्रोत्साहन योजना

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana: मध्य प्रदेश में निशक्तों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने निशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना के अंतर्गत दिव्यांग बच्चों को फ्री और गुणवत्ता में लैपटॉप और मोटरसाइकिल की सुविधा दी जाएगी। इस योजना में न केवल दिव्यांग बच्चों के लिए मानव संसाधन विकास विभाग द्वारा संचालित की जाती है। समाज के अन्य उद्योगों लोग भी इसमें मदद करते हैं। इस योजना में दिव्यांग छात्रों को विद्यालय और सरकारी कॉलेज में सीधी भारती की जाती है।

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join
Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana
Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana

उन्हें विशेष शिक्षा सहायकों का मदद दिया जाता है। और उन्हें आवश्यक सामानों की पूर्ति की जाती है। इसके अलावा दिव्यांग छात्रों को विशेष संसाधन की आवश्यकता होने पर विद्यालय और कॉलेज में आवास की व्यवस्था भी की जाती है। निशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना का एक महत्वपूर्ण कदम है जो मध्य प्रदेश के अस्थाई और अस्थाई रूप से दिव्यांग छात्रों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करता है और एक समान एवं सकारात्मक शिक्षा का माध्यम बनने के लिए समाज के सभी स्तरों को जोड़ने का काम करता है।

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana

मध्य प्रदेश निशक्त शिक्षा प्रोत्साहन योजना एक सरकारी नीति है जिसका मुख्य उद्देश्य शिक्षा के लिए निशक्तों को समर्थ प्रदान करना है। यह योजना निशक्त वर्ग के लोगों को समान अवसर देने के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई है। इस योजना के तहत निशक्त शिक्षा में बढ़ोतरी करने के लिए अलग-अलग उपकरण शामिल है।

इस योजना के अंतर्गत जिन विद्यार्थियों के माता-पिता मध्य प्रदेश शासन के श्रम विभाग में असंगठित कर्मकार के रूप में पंजीयन है। ऐसे विद्यार्थी को निम्नांकित स्नातक पॉलिटेक्निक डिप्लोमा ईट पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्राप्त करने पर मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना के अंतर्गत शिक्षा शुल्क राज्य शासन द्वारा दिया जाएगा। योजना के अंतर्गत स्नातक पॉलिटेक्निक डिप्लोमा ईट पार्टी शुल्क के रूप में प्रवेश शुल्क एवं वह वास्तविक शुल्क जो शुल्क विनियम समिति अथवा मध्य प्रदेश निजी विश्वविद्यालय विनायक आयोग अथवा भारत सरकार राज्य शासन द्वारा निर्धारित किया गया है।

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana का लाभ

साल 2013 में मध्य प्रदेश राज्य में चल रही दिव्यांग जन शिक्षा प्रोत्साहन योजना के संशोधन के बाद साल 2017 में से 6 से 18 वर्ष के मानसिक दिव्यांग छात्रों को निशक्त शिक्षा प्रोत्साहन के तहत पेंशन दिए जाने का नियम बनाया गया है। इसके लिए योजना के अंतर्गत मासी के दिव्यांगों को ₹300 पेंशन का लाभ दिया जाएगा । इसके साथ ही 11 जनवरी 2018 को योजना में संशोधन के तहत निशक्त विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा प्रोत्साहन के लिए लैपटॉप और मोटरसाइकिल जो बैटरी से चलने वाले हैं इन सभी की सुविधा दी जा रही है।

आवेदक को इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए इस योजना में आवेदन फॉर्म भरना होगा।

इस योजना की आवेदन फॉर्म आप इस योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर सकते हैं।

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana पत्रताएं

योजना के अनुसार दिव्यांग की उपस्थित 1995 के धारा 2 के मापदंड में 40% या उससे अधिक होनी चाहिए।

मध्य प्रदेश के राज्य के स्कूल महाविद्यालय पॉलिटेक्निक और आईआईटी में नियमित रूप से पढ़ने वाले छात्र होने चाहिए।

योजना के अंतर्गत अति बाधित होने के कारण कक्षा 9 में 60% अंक से पास करना और कक्षा 10 में प्रथम श्रेणी से पास करना या आईआईटी में प्रवेश करने पर एक योग्यता प्राप्त करने के लिए लैपटॉप दिया जाएगा।

शरीर के निचले हिस्से में दिव्यांग के कारण चलने में असमर्थ होने पर और कम से कम 60 अंक प्राप्त कर दिव्यांग होने पर लैपटॉप के साथ मोटरसाइकिल की सुविधा भी दी जाएगी।

Madhya Pradesh nishakt Shiksha protsahan Yojana आवेदन करने की प्रक्रिया

इस योजना में आवेदन हेतु दिव्यांग विद्यार्थी का मध्य प्रदेश राज्य के स्पर्श पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके बाद स्पर्श पोर्टल पर लोगिन करने के बाद समग्र आईडी की सहायता से आवेदन फार्म में मांगी गई सभी जानकारी भरनी होगी तथा डॉक्यूमेंट की फोटो कॉपी संलग्न करने के बाद सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button