Sarkari yojna

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023 Apply Online || कर्नाटक गंगा कल्याण योजना 2023 ,आवेदन करने की प्रक्रिया

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023 : नमस्कार दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में कर्नाटक गंगा कल्याण योजना के बारे में बताने वाले है। कर्नाटक सरकार ने 2022 में अल्पसंख्यक किसानों को सिंचाई सुविधा प्रदान करने के लिए गंगा कल्याण योजना शुरू की है. इस योजना के तहत सरकार अल्पसंख्यक किसानों को बोरवेल खुदाई, पंप

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना 2023

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023 : नमस्कार दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में कर्नाटक गंगा कल्याण योजना के बारे में बताने वाले है। कर्नाटक सरकार ने 2022 में अल्पसंख्यक किसानों को सिंचाई सुविधा प्रदान करने के लिए गंगा कल्याण योजना शुरू की है. इस योजना के तहत सरकार अल्पसंख्यक किसानों को बोरवेल खुदाई, पंप सेट खरीद और स्थापना के लिए सब्सिडी प्रदान करेगी।  इस  योजना के बारे में विस्तार से जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को धयानपूर्वक आवश्य पढ़े।

 

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना

 

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023 : कर्नाटक गंगा कल्याण योजना (KGKS) एक सरकारी योजना है जो कर्नाटक के किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई थी. इस योजना के तहत, सरकार किसानों को बोरवेल खोदने और पंप लगाने में सब्सिडी प्रदान करती है. KGKS का उद्देश्य किसानों की आय बढ़ाना और राज्य में खाद्य सुरक्षा को मजबूत करना है.

KGKS के तहत, सरकार किसानों को बोरवेल खोदने और पंप लगाने में 50% तक की सब्सिडी प्रदान करती है. सब्सिडी की राशि बोरवेल की गहराई और पंप की क्षमता के आधार पर तय की जाती है. KGKS का लाभ लेने के लिए किसान को अपने जिले के कृषि विभाग में आवेदन करना होगा.

KGKS ने कर्नाटक के किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. इस योजना के तहत, सरकार ने अब तक लाखों बोरवेल खोदे हैं और लाखों किसानों को पंप लगाने में मदद की है. KGKS ने किसानों की आय बढ़ाने और राज्य में खाद्य सुरक्षा को मजबूत करने में मदद की है

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना का उद्देश्य

 

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023 ; कर्नाटक गंगा कल्याण योजना (KGKY) एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य कर्नाटक में गंगा नदी के संरक्षण और संवर्धन करना है।  यह योजना 2018 में शुरू की गई थी और इसका बजट 1000 करोड़ रुपये है।  इस योजना के तहत, सरकार गंगा नदी के तट पर स्थित गांवों में स्वच्छता और पेयजल आपूर्ति के बुनियादी ढांचे का विकास करेगी. इसके अलावा, सरकार गंगा नदी के प्रदूषण को कम करने के लिए विभिन्न उपाय करेगी, जैसे कि औद्योगिक अपशिष्टों के प्रवाह को रोकना और नदी के तट पर वृक्षारोपण करना।

KGKY का उद्देश्य गंगा नदी को एक स्वच्छ और जीवंत नदी बनाना है ताकि यह लोगों के लिए एक स्वस्थ और सुरक्षित जीवन का स्रोत बन सके।  इस योजना से न केवल गंगा नदी के किनारे रहने वाले लोगों को लाभ होगा, बल्कि यह पूरे कर्नाटक के लोगों को भी लाभान्वित करेगी।

 

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना के लाभ

 

कर्नाटक  अल्पसंख्यक विकास निगम ने Karnatak Ganga Kalyan Yojana को शुरू की है।

इस योजना के मध्यमं से लाभार्थी को कृषि भूमि पर बोरबेल ड्रिलिंग या खुले कुए खोदने के बाद पम्प सेट और सहायक उपकरण की स्थापना करके सिचाई  मिलेगी।

यह राशि बोरबेल ड्रिलिंग  आपूर्ति और 50000 रूपये विद्युतीय जमा के लिए होगी।

सरकार ने vyktigat Borbel pariyojan  1.50 लाख रूपये और 3 लाख रूपये आवंटित किये है।

बंगलुरु शहरी ,बंगलुरु ग्रामीण , रामनगर कोलर , चिक्कबल्लापुर और तुमकुर जिलों को 3.5 लाख रूपये की Subsidy प्रदान की जाएगी।

इसके आलावा अन्य जिलों को 2 लाख रूपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

ये सुविधे पानी के श्रोत से पाइपलाइन खींचकर और पम्प मोटर  और सहायक उपकरण स्थापित करके   आसपास की नदियों के किसानो की भूमि पर प्रदान की जाएगी।

8 एकड़ भूमि तक इकाई लागत 4 लाख तथा 15 एकड़  भूमि तक 6 लाख रूपये निर्धारित है।

योजना के तहत पूरी लगत को सब्सिडी के रूप में मन जाएगा।

सरकार पानी के barahmasi  स्रोतों के उपयोग या Paipline के माध्यम से पानी उठाकर किसानो को उचित sinchai सुविधाए प्रदान करने जा रही है।

इस योजना का लाभ केवल वही किसान उठा पाएगे जो अल्पसंयक समुदाय से है और छोटे या सीमांत किसान है।

यदि बारहमासी जल श्रोत उपलब्ध नहीं है तो निगम जल बिन्दुओ पर बोरबेल के निर्माण के लिए व्यक्तियों को ऋण  प्रदान करेगा।

कृषि गतिविधियों को  बढ़ावा देने के लिए निगम एक borbel के निर्माण पर कुल 1.5 लाख का खर्च वहां करने जा रहा है।

 

Seva Sindhu Shakti Smart Card

 

 

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना के तहत पात्रता और दस्तावेज

 

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना के तहत पात्रता और दस्तावेज निम्नलिखित हैं:

 

पात्रता

 

आवेदक भारतीय नागरिक होना चाहिए.

आवेदक का निवास कर्नाटक राज्य में होना चाहिए.

aavedak की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए.

आवेदक एक किसान होना चाहिए.

आवेदक के पास न्यूनतम 2 एकड़ कृषि भूमि होना चाहिए.

आवेदक के पास सिंचाई के लिए पर्याप्त जल संसाधन उपलब्ध होना चाहिए.

दस्तावेज

 

आधार कार्ड

मतदाता पहचान पत्र

राशन कार्ड

बैंक खाता विवरण

भूमि का स्वामित्व प्रमाण पत्र

सिंचाई के लिए जल संसाधन का प्रमाण पत्र

अन्य कोई दस्तावेज जो योजना के लिए आवश्यक हो.

 

कर्नाटक गंगा कल्याण योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

 

सबसे पहले आपको कर्नाटक गंगा कल्याण योजना की Official  वेबसाइट पर जाना है

 

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023
Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023

 

आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।

होमपेज पर आपको ऑनलाइन एप्लीकेशन पर क्लिक करना होगा।

 

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023
Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023

 

इसके बाद आपको गंगा कल्याण  क्लिक  करना है।

अब आपके शामे आवेदन पत्र खुल जाएगा।

इस आवेदन पत्र में आपको सभी jaruri vivran darj करना होगा।

अब आपको सभी जरुरी Document Upload करने होंगे।

इसक बाद आपको अप्लाई पर क्लिक करना होगा।

इस प्रक्रिया का पालन करके आप योजना के तहत आवेदन कर सकते है।

लॉगिन करने का प्रोसेस

 

 

कर्णाटक गंगा कल्याण योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाये।

आपके  सामने होम पेज खुल जाएगा।

होम पेज पर आपको साइन इन पर क्लीक करना होगा।

 

 

Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023
Karnatak Ganga Kalyan Yojana 2023

 

आपके सामने लॉगिन पेज आ जाएगा।

इस पेज पर आपको अपनी ईमेल आईडी , पासपोर्ट तथा कॅप्टचा कॉड दर्ज करना है।

इसके बाद आपको साइन इन पर क्लिक करना होगा।

इस प्रक्रिया का पालन करके आप Portal  पर Login कर सकते है

 

Mhymantri Sukanya Yojana 2023 Benefite

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button