Sarkari yojna

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana 2024 | इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2024

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana सरकार द्वारा महिलाओं के विकास एवं उत्थान के लिए अलग-अलग योजनाएं चलाई जा रही है

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana 2024 | इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना 2024

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana सरकार द्वारा महिलाओं के विकास एवं उत्थान के लिए अलग-अलग योजनाएं चलाई जा रही है इसी दिशा में राजस्थान सरकार द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की है इस योजना के माध्यम से महिलाओं को व्यवसाय स्थापित करने के लिए ऋण की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी जिस महिला आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर और सशक्त हो सकेगी महिला एवं स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिला भी इस योजना का लाभ ले सकती है अगर आप भी राजस्थान के निवासी है और स्वरोजगार शुरू करने के लिए एक करोड रुपए की रेट राशि का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध कराएंगे तो आईए जानते हैं इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रचार योजना के लिए पात्रता क्या है और कैसे मिलेगी योजना का लाभ।

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana क्या है

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana  राज्य सरकार द्वारा इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना का शुभारंभ देश की पहली महिला राज्य पर श्रीमती सरोजिनी नायडू की जन्म दिवस की शुभ अवसर पर किया गया था जो की 13 फरवरी 2019 को राज्य की पोद्दार कॉलेज कैंपस में आयोजित दिवस की महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम के दौरान आयोजित की गई थी प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के तहत महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से 50 लख रुपए से लेकर 1 करोड रुपए तक की हीरेंद्र राशि स्वरोजगार शुरू करने के लिए उपलब्ध करवाई जाएगी साथ ही व्यक्तिगत महिला उद्यमी एवं स्वयं सहायता समूह को 50 लाख रुपए  राशि उपलब्ध करवाई जाएगी यह योजना महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनने में भी कारगर साबित होगी इसके अलावा इस योजना के माध्यम से mahilao के जीवन स्तर में भी sudhar आएगा।

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana
Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana का उद्देश्य

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना और उन्हें उद्यमिता के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस योजना के तहत, राजस्थान राज्य की महिलाओं को विनिर्माण, सेवा, व्यापार, डेयरी, कृषि आधारित उद्यम आदि सभी क्षेत्रों में उद्यम स्थापना, विस्तार, विविधीकरण या आधुनिकीकरण के लिए बैंकों के माध्यम से anudan युक्त rin उपलब्ध कराया जाता है।

यह योजना महिलाओं के लिए एक महत्वपूर्ण पहल है, क्योंकि यह उन्हें आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनने और अपनी आजीविका चलाने में मदद करती है। यह योजना महिलाओं के सशक्तिकरण और आत्मनिर्भरता के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है।

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana  का लाभ

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana इस योजना के तहत, महिलाओं को 50 लाख रुपये तक का ऋण और ऋण राशि का 25 प्रतिशत तक का अनुदान प्रदान किया जाता है। विशेष श्रेणी की महिलाओं, जैसे विधवा/ परित्यक्ता/ हिंसा से पीड़ित महिला, दिव्यांग एवं अनुसूचित जाति/ जन जाति की महिलाओं को ऋण राशि का 30 प्रतिशत तक का अनुदान प्रदान किया जाता है।

यह योजना महिलाओं को उद्योग, सेवा, व्यापार, डेयरी, कृषि आधारित उद्यम आदि समस्त क्षेत्रों में ऋण सुविधा प्रदान करती है। इससे महिलाओं को अपनी रुचि और योग्यता के अनुसार उद्यम शुरू करने का अवसर मिलता है।

इस योजना के तहत, आवेदन और अन्य प्रक्रिया ऑनलाइन की जाती है। इससे महिलाओं को आवेदन करने और योजना से जुड़ी जानकारी प्राप्त करने में आसानी होती है।

इस योजना के तहत, महिलाओं को उद्यम शुरू करने और चलाने के लिए समर्थन और मार्गदर्शन प्रदान किया जाता है। इससे महिलाओं को अपने उद्यम को सफल बनाने में मदद मिलती है।

इस योजना से महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होने और सशक्त होने में मदद मिलती है। इससे महिलाओं के सामाजिक और आर्थिक विकास में भी योगदान मिलता है।

इस योजना से महिलाओं को रोजगार के अवसर भी मिलते हैं। इससे महिलाओं के लिए रोजगार के क्षेत्र में नए आयाम खुलते हैं।

इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं की आर्थिक स्थिति में सुधार होता है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों का विकास भी होता है।

इस योजना से लैंगिक समानता को बढ़ावा मिलता है। इससे महिलाओं को उद्यमिता के क्षेत्र में पुरुषों के बराबर अवसर मिलते हैं।

इस योजना से विकास में महिलाओं की भागीदारी बढ़ती है। इससे महिलाओं को विकास की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का मौका मिलता है।

इस योजना से बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को भी बढ़ावा मिलता है। इससे बेटियों को आत्मनिर्भर और सशक्त बनने के लिए प्रेरित किया जाता है।

 

इंदिरा महिला शक्ति उद्यम प्रोत्साहन योजना के लिए अप्लाई कैसे करे

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojanaएक सरकारी योजना है जो राजस्थान राज्य की महिलाओं को व्यवसाय शुरू करने या मौजूदा व्यवसाय को बढ़ाने के लिए ऋण और अनुदान प्रदान करती है। इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए, आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा:

आवेदन पत्र भरें। आवेदन पत्र आप राजस्थान सरकार की वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं या जिला कार्यालय महिला अधिकारिता में प्राप्त कर सकते हैं। आवेदन पत्र भरते समय, सुनिश्चित करें कि आपने सभी आवश्यक जानकारी सही ढंग से भर दी है।

आवेदन पत्र के साथ आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें। आवश्यक दस्तावेजों में शामिल हैं:

आधार कार्ड

राशन कार्ड

आय प्रमाण पत्र

व्यवसाय योजना

अन्य प्रासंगिक दस्तावेज

आवेदन पत्र को संबंधित जिला कार्यालय महिला अधिकारिता में जमा करें।

 

दिल्ली मुख्यमंत्री जग्गी झोपड़ी आवास योजना लिस्ट

 

आवेदन पत्र भरने के लिए दिशा-निर्देश:

 

आवेदन पत्र स्वयं भरें। सामान्य आवेदन के लिए किसी सीए या विशेषज्ञ की आवश्यकता नहीं है।

आवेदन भरने के लिए जिला कार्यालय महिला अधिकारिता में प्रतिमाह विशेष शिविर लगाए जाते हैं। उसमें आकर आप प्रक्रिया समझ सकते हैं।

avedan में समस्त सूचना सही-सही भरें। उद्यम के sanchalan में भी इससे suvidha  होगी।

 

आवेदन पत्र के साथ संलग्न आवश्यक दस्तावेज:

 

आधार कार्ड

राशन कार्ड

आय प्रमाण पत्र

व्यवसाय योजना

अन्य प्रासंगिक दस्तावेज

 

आवेदन की प्रक्रिया:

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana आवेदन पत्र भरने के बाद, आप इसे संबंधित जिला कार्यालय महिला अधिकारिता में जमा कर सकते हैं। आवेदन पत्र जमा करने के बाद, आपका आवेदन महिला अधिकारिता द्वारा जांचा जाएगा। यदि आवेदन सही पाया जाता है, तो इसे संबंधित बैंक में भेज दिया जाएगा। बैंक आपके आवेदन की जांच करेगा और ऋण के लिए आपकी पात्रता तय करेगा। यदि बैंक आपके आवेदन को स्वीकृत करता है, तो आपको ऋण और अनुदान प्रदान किया जाएगा।

 

आवेदन की स्वीकृति के लिए आवश्यक समय:

 

Indra Mahila Shakti Uddyam Protashan Yojana आवेदन की स्वीकृति के लिए आवश्यक समय आवेदन की स्थिति पर निर्भर करता है। यदि आवेदन सही और पूर्ण है, तो इसे स्वीकृत होने में लगभग 15-20 दिन लगते हैं। यदि आवेदन में कोई कमी है, तो इसे स्वीकृत होने में अधिक समय लग सकता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button