Sarkari yojna

Delhi solar policy 2024 । दिल्ली सोलर पॉलिसी शुरू हुई

Delhi solar policy 2024:- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजधानी दिल्ली के लिए नई सोलर पॉलिसी लेकर आया है। दिल्ली सोलर पॉलिसी 2024 को लेकर दावा किया जा रहा है

Delhi solar policy 2024 । दिल्ली सोलर पॉलिसी शुरू हुई

Delhi solar policy 2024:- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल राजधानी दिल्ली के लिए नई सोलर पॉलिसी लेकर आया है। दिल्ली सोलर पॉलिसी 2024 को लेकर दावा किया जा रहा है। की नई पॉलिसी के लाभ होने से दिल्ली के अंदर आवाज से एरिया में रहने वाले परिवार को बिजली बिल जीरो हो सकता है।

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join
Delhi solar policy 2024
Delhi solar policy 2024

जबकि कमर्शियल और इंडस्ट्रीज उपभोक्ताओं का बिजली बिल आधा हो सकता है। सोलर पैनल लगाने से पैसे की बचत होगी साथ ही उपभोक्ताओं को ₹10000 तक की सब्सिडी का लाभ भी दिया जाएगा। दिल्ली सोलर पॉलिसी 2024 सी केवल दिल्ली में महंगाई दर में कमी आएगी बल्कि वायु प्रदूषण में भी सुधार होगा।

अपने घर में सोलर प्लांट लगाने पर कितनी सब्सिडी मिलेगी। Delhi solar policy से जुड़ी सभी जानकारी आपको हमारे इस पोस्ट में मिलने वाले हैं। बस आप इस पोस्ट में लास्ट तक बन रहे ताकि आपको इससे संबंधित सभी जानकारी मिल सकेगी।

Delhi solar policy 2024

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सोलर पॉलिसी 2024 के तहत घर की छत पर सोलर पैनल लगाने वालों को प्रोडक्शन के आधार पर प्रोत्साहन राशि देने का फैसला लिया है। नई पॉलिसी अपने वाले आवाज से एरिया के उपभोक्ताओं का बिजली बिल जीरो आएगा। और उन्हें 700 से ₹900 तक की अतिरिक्त आमदनी भी होगी।

इसके लिए सरकार ने जेनरेशन बेस्ट इंसेंटिव का प्रस्ताव दिया है। इससे पहले 2016 में सोलर पॉलिसी जारी की गई थी। जिसे दिल्ली में सोलर पावर की बुनियाद रखी इस पॉलिसी के तहत जो लोग सोलर पैनल खरीदने में पैसा लगाएंगे । वह पैसा 4 साल के अंदर रिकवर हो जाएगा। सोलर पॉलिसी के तहत सोलर पैनल लगाने वालों का 400 प्लस यूनिट बिजली का बिल भी जीरो आएगा।

कैसे लगवा सकते हैं सोलर पैनल

Mukhymantri Arvind Kejriwal ने बताया है। कि दिल्ली सोलर पॉलिसी 2024 की सारी जानकारी एक ही जगह उपलब्ध कराने के लिए सोलर पोर्टल बनाया जा रहा है दिल्ली सरकार जल्द ही। अपनी वेबसाइट पर सभी जानकारी अपलोड करेगी। इस लिस्ट को डाउनलोड कर किसी एक वेंडर का चयन करना होगा और उन्हें कॉल कर अपनी छत पर सोलर पैनल लगवा सकते हैं।

 

Delhi solar policy कैसे करेगी काम

एक बार पैनल लग जाने के बाद डिस्कॉम एक नेट Miter Instill करेगा।

यह उत्पन्न हुई Bijali Unit उपभोक्ताओं की ओर से इस्तेमाल होने वाली और बिना इस्तेमाल की गई यूनिट पर नजर रखेगी।

उसी के आधार पर उपभोक्ताओं को बिजली बिल भेजा जाएगा।

सोलर पैनल से जनरेट बिजली यूनिट को उसकी खपत के अनुसार समायोजित किया जाएगा।

आप 3 से 10 किलो वाट क्षमता के सोलर पैनल लगवाते हैं तो ₹2 प्रति यूनिट के हिसाब से आपके बैंक खाते में पैसा जमा कराया जाएगा।

दिल्ली सरकार 5 साल तक यह जेनरेशन बेस्ट इंसेंटिव देती है।

पूरे देश में केवल दिल्ली सरकार ही सोलर पैनल लगवाने वाले लोगों को जनरेशन बेस इंसेंटिव दे रही है।

Delhi solar policy 2024 के तहत सब्सिडी

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली सोलर पॉलिसी के तहत दिल्ली सरकार आवास से उपभोक्ताओं को अपने घरों में प्लांट लगाने पर प्रति किलो वाट 2000 रुपए कैपिटल सब्सिडी देगी। जो अधिकतम ₹10000 तक दी जाएगी। केंद्र सरकार भी कैपिटल सब्सिडी देती है लेकिन अब केंद्र सरकार के अलावा दिल्ली सरकार भी यह कैपिटल सब्सिडी देगी। इसके अलावा नेट मीटरिंग है नेट मीटरिंग उसे कहते हैं। आप खपत करने के लिए जितनी बिजली डिस्कॉम से लेंगे तथा जितनी बिजली पैदा करेंगे उसका हिसाब कर दिया जाएगा।

यदि किसी उपभोक्ता ने 400 यूनिट बिजली खपत की है जिसमें से 100 यूनिट उसने सोलर पैनल के माध्यम से पैदा किया है। और 300 यूनिट बिजली का बिल डिस्कॉम को देना होगा। वहीं अगर कोई उपभोक्ता सोलर पैनल से बिजली ज्यादा पैदा करता है। उसे कम खपत करता है। तो खपत करने के बाद बच्ची बिजली अगले महीने में जुड़ जाएगी जो 12 महीने तक समायोजित हो। सकता है वहीं अगर उपभोक्ता सोलर पैनल से पूरा साल में ज्यादा बिजली पैदा की है और खत्म की है तो उसका पैसा डिस्काउंट से वापस ले सकते हैं।

Delhi solar policy पर 750 करोड रुपए खर्च करेगी दिल्ली सरकार

दिल्ली सरकार द्वारा दिल्ली सोलर पॉलिसी 2024 के तहत सब्सिडी वाले आवासीय उपभोक्ताओं के बिजली बिलों को जीरो और कमर्शियल या उद्योग उपभोक्ताओं का बिजली बिल 50 फ़ीसदी तक काम करना है।

इसके अलावा दिल्ली सरकार का लक्ष्य मार्च 227 तक दिल्ली की कुल स्थापित और क्षमता को मौजूदा क्षमता 1500 मेगावाट से तीन गुना बढ़कर 4500 मेगावाट करना है। बिजली की खपत का लगभग 20% दी 2027 तक सौर ऊर्जा से आएगा जो कि भारत में सबसे अधिक होगा। केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली सोलर पॉलिसी के काम हेतु 570 करोड रुपए खर्च किए जाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button