Sarkari yojna

Beti Bachao Beti Padhao Yojana Kya Hai | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना क्या है

Beti Bachao Beti Padhao Yojana बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक योजना है जिसका उद्देश्य बैटरी के प्रति समाज में सकारात्मक दृष्टिकोण पर पैदा करना है

Beti Bachao Beti Padhao Yojana Kya Hai | बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना क्या है

 

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Beti Bachao Beti Padhao Yojana बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक योजना है जिसका उद्देश्य बैटरी के प्रति समाज में सकारात्मक दृष्टिकोण पर पैदा करना है और उन्हें सशक्त बनाना है कि योजना के तहत बेटियों की जन्म के समय लिंग निर्धारण परीक्षण को रोकने बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा देने और उनके अधिकारों की रक्षा करने के लिए विभिन्न कार्यक्रम और पहल की जाती है।

Beti Bachao Beti Padhao Yojana
Beti Bachao Beti Padhao Yojana

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का मुख्य घटक निम्नलिखित है

 

Beti Bachao Beti Padhao Yojana इस योजना के तहत विभिन्न माध्यमों से बेटियों के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण पैदा करने के लिए जागरूकता अभियान चलाए जाते हैं इन अभियानों में टीवी रेडियो सोशल मीडिया स्कूल और गांव मैं जागरूकता कार्यक्रम आदि शामिल है।

इस योजना के तहत लिंग निर्धारण प्रशिक्षण को रोकने के लिए उल्लंघन करने वालों को कड़ी सजा दी जाती है।

इस योजना के तहत बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न कार्यक्रम और पहले की जाती है इसमें छात्रवृत्ति मुक्त शिक्षा पुस्तक और स्टेशनरी आदि शामिल है।

इस योजना के तहत बेटियों के अधिकारों की रक्षा के लिए विभिन्न कानून बनाए गए हैं इन करुणों में बाल विवाह निषेध अधिनियम दहेज निषेध अधिनियम और बाल श्रम निषेध अधिनियम आदि शामिल है।

 

 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य

 

Beti Bachao Beti Padhao Yojana बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य है कि भारत में बालिकाओं के प्रति भेदभाव को दूर किया जाए और उन्हें समान अधिकार और अवसर प्रदान किया जाए इस योजना के तहत निम्नलिखित उद्देश्य को प्राप्त करने का प्रयास किया जाता है।

भारत में बाल लिंग अनुपात में गिरावट एवं गंभीर समस्या है 2023 में भारत का बाल लिंग अनुपात 936 लड़कियां प्रति 1000 लड़के है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य 2030 तक इस अनुपात को 1000 अनुपात 1000 तक पहुंचना है।

भारत में अभी भी कई परिवारों में बेटियों के जन्म को लेकर नकारात्मक धारणाएं हैं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य इन धारणाओं को बदलने और परिवारों को बेटियों के जन्म को प्रोत्साहित करना है।

भारत में अभी भी कई बालिकाएं शिक्षा से वर्जित है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देना और उन्हें शिक्षित नागरिक बनाने में मदद करता है।

 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का लाभ

 

Beti Bachao Beti Padhao Yojana बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का लाभ निम्नलिखित बिंदुओं में इस प्रकार है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का मुख्य उद्देश्य बेटी के अस्तित्व को बचाना और उन्हें शिक्षित करना है इस योजना के माध्यम से समाज में बेटियों के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण विकसित करने का प्रयास किया जाता है। योजना के तहत बेटियों के जन्म के बाद पांच पौधे का रोपण किया जाता है जिससे बेटियों के जन्म को एक शुभ अवसर के रूप में देखा जा सकता है।

भारत में लंबे समय से लिंगानुपात में असमानता देखी जा रही है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के माध्यम से लिंग अनुपात को सामान करने का प्रयास किया जा रहा है इस योजना के तहत बेटी की शिक्षा को बढ़ावा दिया जा रहा है जिससे बेटियों को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी और वह अपने परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधार करने में योगदान दे सकेगी।

भारतीय समाज में लंबे समय से लिंग भेदभाव की समस्या देखी जा रही है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की माध्यम से लिंक भेदभाव को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है इस योजना के तहत बेटियों के अधिकारों के प्रति जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के माध्यम से बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा दिया जा रहा है इस योजना के तहत बेटियों को मुक्त शिक्षा छात्रवृत्ति और अन्य सुविधाएं प्रदान की जा रही है इसे बेटियों को शिक्षा प्राप्त करने में आसानी होगी और वह अपने भविष्य को बेहतर बनाने में सक्षम।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के माध्यम से बेटियों को सशक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है इस योजना के तहत बेटियों को विभिन्न कौशल विकास कार्यक्रमों में भाग लेने का अवसर दिया जा रहा है इससे बेटियों को आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी और वह अपने जीवन में निर्णय लेने में सक्षम होंगे।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के माध्यम से बेटियों के अधिकारों की प्रति जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है इस योजना के तहत विभिन्न कार्यक्रमों और अभियानों के माध्यम से बेटियों के अधिकारों के बारे में लोगों को जागरूक किया जा रहा है‌

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के माध्यम से बेटियों के स्वास्थ्य और कल्याण में सुधार करने का प्रयास किया जा रहा है इस योजना के तहत बेटियों को स्वस्थ और अन्य सुविधाओं का तक पहुंच प्रदान की जा रही है इसे बेटियों के स्वास्थ्य और कल्याण में सुधार होगा।

 

Pradahnmantri Wani Yojana kya hai

 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की रिपोर्टिंग

 

Beti Bachao Beti Padhao Yojana बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की रिपोर्टिंग निम्नलिखित तरीके से की जाती है।

सरकार ने योजना की निगरानी और मूल्यांकन के लिए ऑनलाइन प्रबंधन सूचना प्रणाली विकसित की है या प्रणाली सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को योजना के तहत किए गए कार्यों की जानकारी प्रदान करती है।

भारत सरकार हर 10 साल में जनगणना करती है जनगणना में शिशु लिंग अनुपात सहित विभिन्न सामाजिक आर्थिक डाटा एकत्रित किया जाता है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के प्रभाव को मापने के लिए एसआरबी का उपयोग किया जाता है।

राज्य और जिला स्तर पर भी योजना की रिपोर्टिंग की जाती है राज्य और जिला प्रशासन योजना के तहत किए गए कार्यों की जानकारी एकत्र करते हैं और इसे केंद्र सरकार को भेजते हैं।

 

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की रिपोर्टिंग में कुछ प्रमुख निष्कर्ष

 

शिशु लिंग अनुपात : 2014-15 में देश का राष्ट्रीय एसआरबी 927 था 2023 में यह बढ़कर 943 हो गया है यह एक सकारात्मक संकेत है की योजना में शिशु लिंग अनुपात में सुधार करने में काफी मदद की है।

बालिकाओं की शिक्षा में सुधार : 2014 15 में देश में कक्षा 1 से लेकर 12 तक की बालिकाओं की नामांकन दर 65% थी 2023 में यह बढ़कर 75% हो गया है यह भी एक सकारात्मक संकेत है की योजना ने बालिकाओं की शिक्षा में सुधार करने में मदद की है।

बालिकाओं के स्वास्थ्य में सुधार:  2014-15 में देश में 5 वर्ष से कम उम्र वाली बालिकाओं में कुपोषण का स्टार 35 परसेंट था 2023 में यह घटकर 29 परसेंट हो गया है यह भी एक सकारात्मक संकेत है की योजना ने बालिकाओं के स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद की है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button